CSIR collaborates with Intel India and IIIT-Hyderabad to develop diagnostic solutions


CSIR collaborates with Intel India and IIIT-Hyderabad to develop diagnostic solutions and risk stratification strategies to combat COVID-19


The ability to test faster and predict patients at riskis crucial to mitigating SARS-CoV-2 transmission.
CSIR is working with Intel India and International Institute of Information Technology (IIIT), Hyderabad to help achieve faster and less expensive COVID-19 testing and coronavirus genome sequencing to understand epidemiology and AI-based risk stratification for patients with comorbidities.
 
As part of the initiative, Intel India is developing an end-to-end system that consists of multiple applications, testing devices, data collection/aggregation gateways, a data exchange SDK and an AI model-hub platform.
 
CSIR constituent labs such as CSIR-IGIB, CSIR-CCMB, CSIR-IMTECH, CSIR-IIP, CSIR-CLRI and others will work with various hospitals and diagnostic chains in carrying out comprehensive diagnostics.
 
IIIT-Hyderabad will develop risk stratification algorithms that can help in drug and vaccine discovery for long term preparedness to combat the epidemic.
 
Dr Shekhar C Mande, DG CSIR, observed, “Multi-disciplinary partnerships are key to tackling the challenge of COVID-19 and CSIR is happy to collaborate with IIIT-Hyderabad and Intel India which bring in complementary strengths in genomics, big data and AI.”
 
“Intel India is committed to working with CSIR and IIIT-Hyderabad to rapidly develop and deploy solutions in the fight against COVID-19.
Source  pib-

सार्स- सीओवी-2 का संचरण (ट्रांसमिशन) कम करने के लिए जोखिम वाले रोगियों पर तेजी से परीक्षण और भविष्यवाणी करने की क्षमता विकसित करने के लिए सीएसआईआर इंटेल इंडिया और इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (आईआईआईटी), हैदराबाद के साथ मिलकर काम कर रहा है ताकि सह रूग्‍णता  के रोगियों के लिए महामारी विज्ञान और एआई-आधारित जोखिम स्तरीकरण को समझने के लिए तेजी से और कम खर्चीले कोविड​​-19 जांच और कोरोनावायरस जीनोम परिणाम को प्राप्त किया जा सके।

पहल के एक हिस्से के रूप में, इंटेल इंडिया एक एंड-टू-एंड सिस्टम विकसित कर रहा है जिसमें कई एप्लिकेशन, टेस्टिंग डिवाइस, डेटा कलेक्शन / एग्रीगेशन गेटवे, डेटा एक्सचेंज एसडीकेऔर एआईमॉडल-हब प्लेटफॉर्म शामिल हैं।

सीएसआईआर की सहायक प्रयोगशालाओं जैसे सीएसआईआर-आईजीआईबी, सीएसआईआर-सीसीएमबी,सीएसआईआर-आईएमटीईसीएच,सीएसआईआर-आईआईपी,सीएसआईआर-सीएलआरआईऔर अन्य विभिन्न अस्पतालों और नैदानिक ​​श्रृंखलाओं के साथ मिलकर विस्‍तृत निदान करेंगे।

आईआईआईटी-हैदराबाद जोखिम स्तरीकरण एल्गोरिदम विकसित करेगा जो महामारी का मुकाबला करने के लिए दीर्घकालिक तैयारी के लिए दवा और टीके की खोज में मदद कर सकता है।

सीएसआईआर के महानिदेशक डॉ. शेखर सी. मांडेका मानना है, “बहु-अनुशासनात्मक साझेदारी कोविड​​-19 की चुनौती से निपटने के लिए महत्वपूर्ण है और सीएसआईआर को आईआईआईटी- हैदराबाद और इंटेल इंडिया के साथ सहयोग करने की खुशी है जो जीनोमिक्स, बिग डेटा और एआई में अतिरिक्‍त जान लाते हैं।”

 

Print Friendly, PDF & Email