Nasha Mukt Bharat: Annual Action Plan (2020-21) for 272 Most Affected Districts E-Launched

Share This Article with Your Friends
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Nasha Mukt Bharat: Annual Action Plan (2020-21) for 272 Most Affected Districts E-Launched


 

 

“Nasha Mukt Bharat: Annual Action Plan (2020-21) for 272 Most Affected Districts’ was e-launched by Shri Rattan Lal Kataria, Minister of State for Social Justice and Empowerment on the occasion of “International Day Against Drug Abuse and Illicit Trafficking” .

  • On this occasion, he also released Logo and Tagline for National Action Plan for Drug Demand Reduction and 9 Video Spots produced for Drug Abuse Prevention.
  • Nasha Mukt Bharat Annual Action Plan for 2020-21 would focus on 272 most affected districts (list in Annexure) and launch a three-pronged attack combining efforts of Narcotics Bureau, Outreach/Awareness by Social Justice and Treatment through the Health Dept.
 
The Action Plan has the following components: 
  • Awareness generation programmes;
  • Focus on Higher Educational institutions,
  • University Campuses and Schools;
  • Community outreach and identification of dependent population;
  • Focus on Treatment facilities in Hospital settings; and
  • Capacity Building Programmes for Service Provider.
 
based on the finding of the National Survey on Extent and Pattern of Substance Use in India and list of districts which are vulnerable from the supply point of view provided by Narcotics Control Bureau, the Ministry of Social Justice and Empowerment would undertake intervention programmes in vulnerable districts across the country with an aim to: Reach out to Children and Youth for awareness about ill effect of drug use; Increase community participation and public cooperation; Supporting Government Hospitals for opening up De- addiction Centers in addition to existing Ministry Supported De-addiction Centers (IRCAs); and  Conducting Training programme for participants.
 
 
Source   pib-

 


नशा मुक्त भारत : 272 सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों के लिए वार्षिक कार्य योजना (2020-21) का ई-शुभारम्भ किया गया


केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री रतन लाल कटारिया ने “अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ सेवन और तस्करी निरोध दिवस” के अवसर पर  “सबसे ज्यादा प्रभावित 272 जिलों के लिए नशा मुक्त भारत : वार्षिक कार्य योजना (2020-21)” का ई-शुभारम्भ किया।

  • इस अवसर पर उन्होंने नशीले पदार्थों की मांग में कमी के लिए राष्ट्रीय कार्य योजना से संबंधित लोगो और टैगलाइन तथा नशीली दवाओं के दुरुपयोग को रोकने के लिए बनाए गए 9 वीडियो स्पॉट्स भी जारी किए।
  • नशा मुक्त भारत वार्षिक कार्य योजना, 2020-21 में सबसे ज्यादा प्रभावित 272 जिलों (सूची अनुलग्नक में है) पर ध्यान केन्द्रित किया गया है और नारकोटिक्स ब्यूरो, सामाजिक न्याय द्वारा जागरूकता और स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से उपचार के संयुक्त प्रयासों वाले त्रिस्तरीय हमलों का शुभारम्भ किया गया।

कार्य योजना के भाग इस प्रकार हैं :

  • जागरूकता फैलाने से जुड़े कार्यक्रम;
  • उच्च शैक्षणिक संस्थानों,
  • विश्वविद्यालय परिसरों और विद्यालयों पर जोर;
  • अस्पतालों में उपचार सुविधाओं पर जोर; और
  • सेवा प्रदाता के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम।

नेशनल सर्वे ऑन एक्स्टेंट एंड पैटर्न ऑफ सब्सटैंस यूज इन इंडिया के निष्कर्षों और जिलों की सूची जो नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के दृष्टिकोण से आपूर्ति के लिहाज से संवेदनशील हैं, उनके आधार पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय देश भर के संवेदनशील जिलों में हस्तक्षेप कार्यक्रम चलाएगा।

इसके उद्देश्यों में नशीले पदार्थों के दुष्प्रभावों के बारे में बच्चों और युवाओं को जागरूक करना; सामुदायिक भागीदारी और जन सहयोग बढ़ाना; मंत्रालय समर्थित वर्तमान नशा मुक्ति केन्द्रों (आईआरसीए) के अलावा सरकारी अस्पतालों को नशा मुक्ति केन्द्र खोलने के लिए समर्थन देना; और भागीदारों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम कराना शामिल है।

 

स्रोत  pib-

 

 

Print Friendly, PDF & Email