India’s first Coronavirus vaccine COVAXIN , approved for human trials


India’s first Coronavirus vaccine COVAXIN , approved for human trials


Here’s all you need to know

India’s first COVID 19 vaccine candidate, developed by Bharat Biotech India (BBIL), Hyderabad-based biotechnology firm working closely with the Indian Council of Medical Research (ICMR) and the National Institute of Virology (NIV).

India’s drug control authority, the Central Drugs Standard Control Organisation (CDSCO) has allowed BBIL to hold Phase I and II of human clinical trials, which are scheduled to start across India in July.

How It was developed –

According to the firm, “The SARS-CoV-2 strain was isolated in NIV, Pune and transferred to Bharat Biotech. The indigenous, inactivated vaccine was developed and manufactured in Bharat Biotech’s BSL-3 (Bio-Safety Level 3) High Containment facility located in Genome Valley, Hyderabad, India.

Also known as an inactivated virus, the virus has no possibility of infecting a person or multiplying in number, as it is already dead. However, when presented to the immune system, the dead viruses has the ability to activate the antibodies that can fight against these viruses.

The stages of approval

After having undergone a series of pre-clinical testing, involving multiple animal trials, the firm approached the drug control authorities i.e. CDSCO, for an approval to proceed to the next level of testing, consisting of human clinical trials.

Covaxin, having received the approval from the authorities are scheduled to start their trials in July. Bharat Biotech India (BBIL) will be help in two phases. Phase I will be conducted in small groups of individuals, where the dosage of the vaccine will be determined. The concerned personnel will study the effectiveness and side effects of the vaccine in accordance with the number of dosage.

Phase II will comprise of a larger group of people where they will be organized and categorized according to certain characteristics such as age and sex.

Sources – Times of India –


भारत बायोटेक ने बनाया देश का पहला कोरोना वायरस वैक्सीन कोवाक्सिन, जुलाई से शुरू होगा इंसानों पर परीक्षण


हैदराबाद आधारित बायोटेक्नॉलजी कंपनी भारत बायोटेक अपने वैक्सीन का मानव परीक्षण जुलाई में शुरू करने जा रही है। कंपनी ने सोमवार को देश का पहला कोविड-19 वैक्सीन कोवाक्सिन (Covaxin) सफलतापूर्वक बना लेने का दावा किया। कंपनी ने यह भी कहा है कि इसे ड्रग कंट्रोर जनरल ऑफ इंडिया (डीजीसीआई) से मानव परीक्षण की मंजूरी मिल गई है। 

कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि वैक्सीन को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) के साथ मिलकर तैयार किया गया है। 


कंपनी ने कहा, ”SARS-COV-2 स्ट्रेन को एनआईवी पुणे में आइसोलेट किया गया और फिर इसे भारत बायोटेक में भेजा गया। स्वदेशी इनएक्टिवेटेड वैक्सीन को भारत बायोटेक के बीएसएल-3 (बायो-सेफ्टी लेवल 3) हाई कंटेनमेंट फसिलिटी में विकसित किया गया और फिर इसका उत्पादन किया गया। यह हैदराबाद के जीनोम वैली में स्थित है।


प्री-क्लीनिकल स्टडीज में सुरक्षित और इम्यून रिस्पांस पाए जाने के बाद रिजल्ट केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत आने वाले ड्रग कंट्रोलर के पास जमा कराया गया। ड्रग कंट्रोलर ने इसके बाद फेज I और फेज II के लिए ह्यूमन क्लीनिक ट्रायल की मंजूरी दी।

Soucres – livehindustan

Print Friendly, PDF & Email